EArn bitcoin

24 Jun 2017

About to Dr. A.P.J Abdul Kalam And Unke Suvichar ( सुवीचार)





डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम का पूरा नाम -----



अबुल पाकिर जैनुलाबुदीन अब्दुल कलाम जिन्हें मिसाइल मैंन और जनता के राष्ट्रपति के नाम से जाना जाते हैं।
भारतीय गणतंत्र 11वें राष्ट्रपति थे। भारत के पूर्व राष्ट्रपति, जाने माने वैज्ञानिक और अभियंता के रूप में विख्यात हैं।
इन्होंने मुख्य रूप से वैज्ञानिक और विज्ञान के व्यवस्थापक के रूप में चार दशकों तक रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डी. आर. डी. ओ) और  भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान (इसरो ) संभाला व भारत के नागरिक अंतरिक्ष कार्यक्रम और सैन्य मिसाइल के विकास के प्रयासों में भी शामिल रहे।


इन्हें वैलेस्टिक मिसाइल और प्रक्षेपण यान proudhogiki के विकास कार्यों के लिए भारत मिसाइल मैंन के रूप मे जाना जाने लगा
ए. पी. जे. कलाम का जन्म 15अक्टूबर 1931 मे धनुषकोडी गांव मे (रामेश्वर तमिलनाडु ) मे एक मध्यवर्गीय मुस्लिम परिवार मे हुआ था।
इनके पिता जैनुलाबुदीन ना तो ज्यादा पढें लिखें थे नाहीं पैसे वाले थे। इनके पिता मछुआरों को नाव किराये पर दिया करते थे।
अब्दुल कलाम जी संयुक्त परिवार मे रहते थे। परिवार के सदस्य संख्या का अनुमान इस बात से लगाया जा सकता है कि यह स्वयं 5 भाई और 5 बहिन थे। घर मे 3 परिवार रहा करते थे।
5वर्ष की आयु मे रामेश्वर पंचायत मे प्रःथमिक विधालय मे उनका दीक्षा  संस्कार हुआ था।अब्दुल ने अपनी प्रःरम्भिक जारी रखने के लिये अखबार वितरित करने का कार्य किया था। 
ये 1962 मे भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन से जुड़े। 18 जुलाई 2002 को 90% वहुमत से भारत का राष्ट्रपति चुना गया था।
Ye vi padhe -  




कलाम जी व्याकित्व जिंदगी मे वेहद अनुसशासन प्रिय थे। यह शाकाहारी थे। इन्होंने अपनी जीवनी विंग्स आँफ्
फायर भारतीय युवाओ को मार्गदर्शन प़दान करने के लिए लिखी थी !
इन्होने तमिल भाषा मे कविताएं भी लिखी है !
27 जुलाई 2015 शाम को भारतीय प्रवंधन शिलोंग मे रहने योग्य ग्रह पर व्याख्यान दे रहे थे।दिल का दौरा पडने से इनका देहांत हुआ था !

ए. पी. जे. अब्दुल कलाम जी के सुविचार

Suvichar - 1
शिखर तक पहचने के लिए ताकत 
चाहिए होती हैं, चाहे वो माउन्ट एवरेस्ट का शिखर हो या आपके 
पेशे का।। 
                     
Suvichar - 2
क्या हम यह नही जानते कि
आत्मसम्मान, आत्मविश्वास के साथ आता है

Suvichar - 3
कृत्रिम सुख की बजाये ठोस उपलब्धियों के पीछे समर्पित रहिये।। 

Suvichar - 4
अंग्रेजी आवश्यक हैं क्योंकि 
वर्तमान मे विज्ञान के मूल काम 
अंग्रेजी मे है मेरा विश्वास 
है कि अगले दो शतक मे 
विज्ञान के मूल काम हमारी भाषाओं 
आने शुरू हो जाएगें 
तब हम जापानियों की तरह आगे 
बढ़ सकेंगे।। 

Suvichar - 5
भगवान्, हमारे निर्माता ने हमारे मष्तिष्क और व्याकित्व मे
असीमित शाक्तियां और
क्षमताएँ दी है ईश्वर की
प्रःर्थाना हमें इन शक्तियों को
विकसित करने में मदद 
करती है ।। 

Suvichar - 6
मैं हमेशा इस बात को
स्वीकार करने को तैयार था कि
मैं कुछ चीजें नही बदल सकता।।

Suvichar - 7
महान सपने देखने वालों के महान 
सपने हमेशा पूरे होते है।। 

       Suvichar - 8
अगर किसी देश को भ़ष्टाचार 
मुक्त और सुन्दर मन वाले लोगो का
देश बनाना है तो मेरा दृढ़तापूर्वक मानना है कि समाज के तीन
प्रमुख सदस्य कर सकते है पिता, माता और गुरु ।। 

Suvichar - 9
यदि हम स्वतंत्र नहीं है तो, 
कोई भी हमारा आदर नही करेगा।। 

Suvichar - 10
भारत मे हम बस मौत, बीमारी, आतंकवाद और अपराध के बारे मे
पढते है।। 

Suvichar - 11
आइये हम अपने आप को बलिदान 
कर दें ताकि हमारे बच्चों का 
कल बेहतर हो सकें।। 

Suvichar - 12
आकाश की तरफ देखिये हम 
अकेले नही है सारा व्रहृःण्ड 
हमारे लिए अनुकूल है और जो
सपने देखते है और मेहनत करते है
उन्हें प्रतिफल देने की साजिश करता है।। 

Suvichar - 13
इंसान को कठिनाइयों की आवश्यकता 
होती है क्योंकि 
सफलता का आनंद उठाने के लिए 
ये जरुरी है।। 

  Suvichar - 14
किसी भी धर्म मे किसी 
धर्म को बनाएं रखने के लिए 
दूसरो को मारना नही बताया गया है।। 

       Suvichar - 15
मुझे बताइए यहां का मीडिया 
इतना नकारात्मक क्यों है? 
भारत मे हम अपनी अच्छाइयों, अपनी 
उपलब्धियों को दर्शाने मे 
इतना शार्मिंदा क्यों होते है? 
हम एक 
माहान राष्ट्र है हमारे पास ढेरों 
सफलता की गाथाएं है। लेकिन हम 
उन्हें नहीं स्वीकारते क्यों? 

Suvichar - 16 
अपने मिशन मे कामयाब होने के
लिए, आपको अपने लक्ष्य के प्रति
एकचित्त निष्ठावान होना पडेगा ।। 

Suvichar - 17
इससे पहले कि सपने सच हो 
आपको सपने देखनो होगे..
यह पोस्ट पढ़ने के लिये धन्यवाद ..
अगर आपको यह पोस्ट - About to Dr. A.P.J Abdul Kalam And Unke Suvichar ( सुवीचार)
अच्छी लगी तो अपने दोस्तो के साथ भी जरूर सेयर करे.

Popular Posts