EArn bitcoin

24 Jun 2017

sabse best shayari for valentine day (sayri part - 1)

आपका nicegyan.com मे स्वागत है..मै ईस पोस्ट मे आपके साथ सायरी सेयर कर रहा हुँ . और मुझे आशा है की आपको पसन्द जरूर आयेगी.


    50 Best Pyar ke Sayari Ka collection in  Hindi Part - 1
    50 Love Sayri In Hindi  for you (You Can talk with Girlfriend )


    Pyar Ki Sayari-1
    °
     बड़ों से सीखा है सवेरे उठकर अपने खुदा
    को याद करना फिर तुम कैसे मेरे ज़ेहन में
    चले आते हो !

    Pyar Ki Sayari-2


     सुनो ,कभी भीगना हो तुम्हे पानी में, मेरी इन
    आँखों में चले आना यहाँ आये दिन सैलाब आते है.

    Pyar Ki Sayari-3


     कितना कोहराम मचा रक्खा है इस दिल ने
    जानता है हमारी राहें जुदा हैं पर इसके लिए तू
    ही खुदा है..

    Pyar Ki Sayari-4


     सीख जाओ वक्त पर किसी की चाहत की कदर करना..
    कहीं कोई थक ना जाये...तुम्हें एहसास दिलाते दिलाते..

    Pyar Ki Sayari-5


     मौत की हिम्मत कहा थी मुझसे टकराने की
     साली ने मोहब्बत को मेरी सुपारी दे डाली..



    Pyar Ki Sayari-6

     चल ना यार हम फिर से मिट्टी से खेलते हैं
     हमारी उम्र क्या थी जो मोहब्बत से खेल बैठे.

    Pyar Ki Sayari-7

     मोहब्बत ना सही , मुकदमा ही कर दे मुझ पर... 
    कम से कम तारीख दर तारीख मुलाक़ात तो होगी..

    Pyar Ki Sayari-8

    8. कितनी खुबसूरत सी हो जाती है, उस वक़्त दुनिया,
    जब हमारा अपना कोई कहता है, तुम याद आ रहे हो...

    Pyar Ki Sayari-9


     माना कि तुझे आज हमसे मोहब्बत नहीं.
     लेकिन पगली आज बी मेरे फ़ोन का लॉक तेरे नाम से ही खुलता है।

    Pyar Ki Sayari-10

     मेरी ज़िन्दगी का खेल शतरंज से भी मजेदार निकला


    मै हारा भी तो अपनी "रानी" से.





    Pyar Ki Sayari - 11

    दर्द कितने हैं बता नहीं सकता,
    जख्म कितने है दिखा नहीं सकता,
    आँखों से समझ सको तो समझ लो,
    आँसु गिरे है कितने गिना नहीं सकता.


    Pyar Ki Sayari - 12

     तेरी गली में आकर के
    खो गये हैं दोंनो....!
    .
    .
    ..

    मैं दिल को ढ़ूँढ़ता हुँ
    दिल
    तुमको ढ़ूँढ़ता है....!!

    Pyar Ki Sayari - 13

    तुझे पाना तो बहुत मुश्किल न था..
    बस मैंने ही ज़िद कर ली कि पाना नहीं, साथ चलना है...!!

    Pyar Ki Sayari - 14

    पास आ जरा दिल की बात सुनाऊ तुझको,
    कैसे धरकता है दिल आवाज़ सुनाऊ तुझको,

    आ के तू देख ले दिल पे लिखा है नाम तेरा,
    अगर कहता है तो दिल चीर के दिखाऊ तुझको..

    जितना जलाया है तुमने प्यार में मुझको,
    दिल तो करता है की मै भी जलाऊ तुझको,

    अजनबी होता तो ऐसा भी कर लेता शायद ,
    मगर तू तो अपना है कैसे सताऊ तुझको…..!!


    Pyar Ki Sayari - 15

    साला प्यार भी कितना अजीब है,
    उसको छोडकर,
    साला पुरे मोहल्ले को पता है॥

    Pyar Ki Sayari - 16

     काश कोई इस तरह भी वाकिफ हो मेरी जिंदगी से,
    कि में बारिश में भी रोऊँ और वो मेरे आंसू पढ़ ले ।

    Pyar Ki Sayari - 17

    मोहब्बत एक अहसासों की पावन सी कहानी है !
     कभी कबिरा दीवाना था कभी मीरा दीवानी है !! 
    यहाँ सब लोग कहते हैं, मेरी आंखों में आँसू हैं ! 
    जो तू समझे तो मोती है, जो ना समझे तो पानी है...

    Pyar Ki Sayari - 18

     बहुत है मेरे मरने पर रोने वाले मगर तलाश उसकी है.
     जो मेरे रोने पर मरने की बात कह दे।

    Pyar Ki Sayari - 19

     खुदा ने जब इश्क़ बनाया होगा,.,.,
     तो खुद आज़माया होगा,.,.,
     हमारी तो औकात ही क्या है,.,.,
     इस इश्क़ ने खुदा को भी रुलाया होगा.....

    Pyar Ki Sayari - 20

    तुम जिन्दगी में आ तो गये हो मगर ख्याल रखना,
    हम ‘जान’ दे देते हैं मगर ‘जाने’ नहीं देते !!

    Pyar Ki Sayri - 21

    कर ना सके हम प्यार का सौदा
    किमत ही कुछ ऐसी थी

    Pyar Ki Sayri - 22


    कमाल करता है ऐ दिल तू भी…
    उसे फुरसत नहीं और तुझे चैन नहीं…

    Pyar Ki Sayri - 23


     जब वो अपने हांथो की लकीरों में मेरा नाम ढूंढ कर थक गयीं..
    सर झुकाकर बोलीं, "लकीरें झूठ बोलती है " तुम सिर्फ मेरे हो "

    Pyar Ki Sayri - 24


     ऐ ज़िँदगी, अब तू ही रुठ जा मुझसे..
    ये रुठे हुए लोग, मुझसे मनाए नहीँ जाते…




      Pyar Ki Sayri - 25

       कभी रो के मुस्कुराए , कभी मुस्कुरा के रोए,
      जब भी तेरी याद आई तुझे भुला के रोए,
      एक तेरा ही तो नाम था जिसे हज़ार बार लिखा,
      जितना लिख के खुश हुए उस से ज़यादा मिटा के रोए..

      Pyar Ki Sayri - 26

      कर ना सके हम प्यार का सौदा
      किमत ही कुछ ऐसी थी

      Pyar Ki Sayri - 27

      कमाल करता है ऐ दिल तू भी…
      उसे फुरसत नहीं और तुझे चैन नहीं
      Pyar Ki Sayri - 28

       जब वो अपने हांथो की लकीरों में मेरा नाम ढूंढ कर थक गयीं..
      सर झुकाकर बोलीं, "लकीरें झूठ बोलती है " तुम सिर्फ मेरे हो "

      Pyar Ki Sayri - 29

       ऐ ज़िँदगी, अब तू ही रुठ जा मुझसे..
      ये रुठे हुए लोग, मुझसे मनाए नहीँ जाते…


      Pyar Ki Sayri - 30

       कभी रो के मुस्कुराए , कभी मुस्कुरा के रोए,
      जब भी तेरी याद आई तुझे भुला के रोए,
      एक तेरा ही तो नाम था जिसे हज़ार बार लिखा,
      जितना लिख के खुश हुए उस से ज़यादा मिटा के रोए..

      Pyar Ki Sayri - 31

      यूँ तो मेरी बस्ती के लोग भी कम हसीन ना थे.
      बस दिल में शौक था गैरों को अपना बनाने का..

      Pyar Ki Sayri - 32

      आखिर गिरते हुऐ आँसुओं ने पूछ ही लिया..
      निकाल दिया न मुझे उसके लिऐ जिसके लिए तु कुछ भी नही..



      Pyar Ki Sayri - 33

       जिसको भी देखा रोते हुए ही देखा
      मुझे तो ये "मोहब्बत" रुमाल बनाने वालो की साजिश लगती है| funny..

      Pyar Ki Sayri - 34

       शौक से तोड़ो दिल मेरा, मै क्यु परवाह करुँ
      तुम ही रहते हो इस में, अपना ही घर उजाड़ोगे..


      Pyar Ki Sayri - 35

       बस इतना सा असर होगा हमारी यादों का..
      कि कभी कभी तुम बिना बात मुस्कुराओगे..

      Pyar Ki Sayri - 36

       मुस्कराहट का कोई मोल नहीं होता , कुछ रिश्तों का कोई तोल नहीं होता ,
      लोग तो मिल जाते है हर मोड़ पर लेकिन हर कोई आप सब की तरह अनमोल नहीं होता !!!

      Pyar Ki Sayri - 37

       एक दिन तुम्हे एहसास होगा कि क्या था मैं तुम्हारे लिए ! 
      पर तब तक मैं तुम्हारी जिंदगी से बहुत दूर जा चुका हूँगा !!!

      Pyar Ki Sayri - 38

      खूश्बु कैसे ना आये मेरी बातों से यारों, 
      मैंने बरसों से एक ही फूल से जो मोहब्बत की है ।

      Pyar Ki Sayri - 39

      तू इतना प्यार कर जितना तू सह सके,
       बिछड़ना भी पड़े तो ज़िंदा रह सके....!

      Pyar Ki Sayri - 40
       एक हसरत थी की कभी वो भी हमे मनाये..
      पर ये कम्ब्खत दिल कभी उनसे रूठा ही नही।

      Pyar Ki Sayri - 41

       दुआओ को भी अजीब इश्क है मुझसे…
       वो कबूल तक नहीं होती मुझसे जुदा होने के डर से …!!!

      Pyar Ki Sayri - 42

       कुछ इस तरह वो मेरी बातों का ज़िक्र किया करती है.... 
      सुना है वो आज भी मेरी फिक्र किया करती है....!!

      Pyar Ki Sayri - 43

      हिम्मत इतनी तो नहीं मुझमे के तुझे दुनिया से छीन लूँ , 
      लेकिन मेरे दिल से कोई तुझे निकाले, इतना हक तो मैंने खुद को भी नहीं दिया..

      Pyar Ki Sayri - 44

       जब आप किसी को प्यार करते हैं तो बिना 
      अपेक्षा उसे अपना सब कुछ दे देते है.

      Pyar Ki Sayri - 45

       उस शख्स में बात ही कुछ ऐसी थी 
      दिल नहीं देते तो जान चली जाती..!

       {+Finish+} 

      Popular Posts